Posts Tagged ‘for women’


मेरे कदम रुक जाते हैं …दहलीज़ पर …

इसे लांघ कर कोरा  कागज़ है आगे …

या कोरा दिखता है ? लिखा है सब …

मेरी मुस्कुराहटें और आहें … मेरे आंसू और खुशियाँ …

इन कोरे पन्नो में लिखी है किस्मत …

छोड़े जा रही हूँ सर्वस्व ..अपनी पहचान …

 

छोड़े जा रही हूँ …

इस आँगन में अपने नन्हे क़दमों की  आहट …

वो रटी हुई पहली अंग्रेज़ी कविता के शब्द …

बाबुल की गोदी, माँ के आँचल में छुपे मेरे सपने …

भैया के हाथों में  अप्रत्यक्ष राखी के धागे  …

छोड़े जा रही हूँ …

 

दीवार पर लगी पहले स्कूल के दिन की तस्वीर …

और अलमारी से झांकती वो खेल की ट्राफी …

पीपल के पेड़ की टहनी से झूलता टूटा झूला …

और रसोई में बनी वो पहली रोटी की याद …

छोड़े जा रही हूँ …

 

आँगन के कोने कोने में हंसी छुपी है मेरी …

झारोंखें की सलांखों में दबे है कई आँसू …

चौखट में मिटी हुई कई रंगोली हैं मेरी …

और बुझे  हुए कई दीपक के तेल के निशाँ …

छोड़े जा रही हूँ …

 

छोड़े जा रही हूँ सर्वस्व ..अपनी पहचान …

मेरे कदम रुक जाते हैं …दहलीज़ पर …

Advertisements

This link was forwarded on my Twitter account. Important laws have been mentioned that we must all learn by heart.

 

All the sections of the Indian Penal Code, 1860 mentioned below are the ones under which (according to media reports) the Guwahati goons have been booked; all these sections of the IPC are bailable, that is, the accused have the right to be released on bail, and that the accused need not be forwarded to a court to seek bail, an officer in-charge of a police station can bail them out after seeking a personal bond and/or surety from them. Even some traffic violations are looked at more seriously by the law….more at link below

Molest, And Get Away | Women’s Web: Online Community For Indian Women.